*पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.)* द्वारा जबलपुर जिले में पदस्थ समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को आवश्यक वस्तु एवं यूरिया, कीटनाशक दवाई, अन्य खादों की कालाबाजारी में लिप्त तथा मानव जीवन को संकटा उत्तपन्न करने वाले मिलावटखोरों, को चिन्हित करते हुये सभी के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही करने हेतु आदेशित किया गया है।  
        आदेश के परिपालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर श्री रोहित काशवानी(भा.पु.से.), अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर दक्षिण/अपराध श्री गोपाल खाण्डेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर उत्तर/यातायात श्री संजय अग्रवाल एवं अति. पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री शिवेश सिंह बघेल, द्वारा क्राईम ब्रांच की टीमों को एवं अनुभाग के थाना प्रभारियों को लगाया गया है।
          आज दिनॉक 24-11-21 को क्राईम ब्रंाच को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली कि कृषि उपज मण्डी गेट न. 1  स्थित चौधरी क्राप केयर का संचालक बिना लायसेंस के कीटनाशक दवा बेच रहा है। सूचना पर उप पुलिस अधीक्षक अपराध श्री सुशील चौहान के नेतृत्व में निरीक्षक श्री एम.एल. बर्मन, निरीक्षक श्री सुखदेव धर्वे, निरीक्षक सुश्री सरिता बर्मन , सहायक उप निरीक्षक मृदुलेश शर्मा, प्रधान आरक्षक रामसहाय कुशवाहा, मानस उपाध्याय, आरक्षक अनूप सिंह के द्वारा मुखबिर के बताये स्थान पर कृषि विभाग की एस.डी.ओ. श्रीमति प्रतिभा गौर, एस.ए.डी.ओ. श्रीमति रश्मी परसाई , आर.ए.ई.ओ. श्री गोविंद बिलथरे, एवं अन्य स्टाफ के द्वारा संयुक्त रूप से दबिश दी गयी।
           दुकान संचालक सुरेन्द्र जैन दुकान में मौजूद मिले, दुकान मे मौजूद स्टाफ खाद, बीज एवं कीटनाशक दवाई की बिक्री के लायसेंस के सम्बंध मे पूछताछ की गयी तो सुरेन्द्र जैन द्वारा ,खाद बीज का लायसेंस प्रस्तुत किया गया लेकिन कीटनाशक दवा *कोराजन* जो कि दुकान में 19 कार्टून कीमती लगभग 18 लाख रूपये की रखी हुई थी जिसके विक्रय  के संबंध में कोई  लायसेंस प्रस्तुत नहीं किया गया।
           इसके साथ ही प्रतिबंधित कीट नाशक दवा *नेावान एवं ग्लाईकोसैट* भारी मात्रा में जिनकी कीमत लाखों रूपये हैं रखी मिली । मौके पर उपस्थित कृषि विभाग के अधिकारियों के द्वारा सैम्पलिंग एवं जप्ती की गयी है। कृषि वैज्ञानिक अधिकारी के प्रतिवेदन पर थाना विजय नगर में अग्रिम वैधानिक कार्यवाही की जावेगी ।