*पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.)* द्वारा समस्त राजपत्रित अधिकारियेां एवं थाना प्रभारियों को लंबित मामले मे फरार एवं उद्घोषित ईनामी आरोपियो की तलाश पतासाजी कर अविलम्ब गिरफ्तारी हेतु आदेशित किया गया है।
         आदेश के परिपालन मे अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर श्री रोहित काशवानी (भा.पु.से.)  एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर (दक्षिण/अपराध ) श्री गोपाल खाण्डेल तथा नगर पुलिस अधीक्षक ओमती श्री आर.डी. भारद्वाज के मार्गदर्शन में क्राईम ब्रांच एवं थाना सिविल लाईन  की टीम के द्वारा अवैध शराब के कारोबार मे लिप्त 3 माह से फरार 5 हजार रूपये के ईनामी आरोपी को पकड़ा गया है।  
          दिनॉक 26-9-21 को क्राईम ब्रांच एवं थाना सिविल लाईन पुलिस द्वारा  विश्वसनीय मुखबिर की सूचना पर  शिव शक्ति मंदिर हाउसिंग बोर्ड कालोनी सिविल लाईन निवासी सुरजीत सिंह जग्गी उर्फ गोलू उर्फ शूटर के घर पर दबिश देते हुये 230 पेटी अंग्रेजी गोवा एवं बाम्बे स्पेशल शराब कीमती 15 लाख रूपये की पकड़ी गयी थी सुरजीत सिंह जग्गी उर्फ शूटर एवं कृष्णा गुप्ता भाग गये थे दोनों आरोपियेां के विरूद्ध धारा सिविल लाईन में 34(2) आबकारी एक्ट के तहत कार्यवाही करते हुये फरार दोनों आरोपियों की सरगर्मी से तलाश की गयी। दौरान तलाश के सुरजीत सिंह जग्गी को पकड़ लिया गया था, कृष्णा उर्फ राहुल गुप्ता घटना दिनॉक से ही फरार था जिसकी गिरफ्तारी पर पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.)  के द्वारा 5 हजार रूपये के ईनाम की उद्घोषणा की गयी थी।
            विश्वसनीय मुखबिर की सूचना पर फरार ईनामी आरोपी कृष्णा उर्फ राहुल गुप्ता उम्र 26 वर्ष निवासी कांचघर गामा इंटरप्राईजेज के पीछे को मालगोदाम के पास प्लंेटफार्म न. 6 के बाहर से पकड़ा जाकर प्रकरण में विधिवत गिरफ्तार कर आज दिनॉक 14-1-22 को मान्नीय न्यायालय के समक्ष पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया।  
             उल्लेखनीय है कि आरोपी कृष्णा गुप्ता अपराधी प्रवृत्ति का हैं, कृष्णा गुप्ता के विरूद्ध थाना घमापुर में 4 अपराध हत्या का प्रयास एवं मारपीट के पूर्व से पंजीबद्ध हैं। 

उल्लेखनीय भूमिका – अवैध शराब के कारोबार मे लिप्त 3 माह से फरार 5 हजार रूपये के ईनामी आरोपी को पकडने में प्रभारी थाना प्रभारी सिविल लाईन उप निरीक्षक सुमित मिश्रा, आरक्षक रत्नेश शुक्ला, क्राईम ब्रांच के सहायक उप निरीक्षक वीरेन्द्र सिंह, प्रधान आरक्षक सादिक अली, आरक्षक नीरज तिवारी, जय प्रकाश तिवारी, की सराहनीय भूमिका रही।